News

Nikhil Nanda with param pujya Baba Ramdev ji, talking about #yoga and its benefits, at the International Day of Yoga celebrations, organized by Consulate General of India, Birmingham in association with Patanjali Yog Peeth (UK) Trust.

SHARE
image

Nikhil Nanda with param pujya Baba Ramdev ji, talking about #yoga and its benefits, at the International Day of Yoga celebrations, organized by Consulate General of India, Birmingham in association with Patanjali Yog Peeth (UK) Trust.

भारत के बर्मिंघम स्थित प्रधान कोंसलावास के द्वारा चौथा अंतर्राष्ट्रिया योग दिवस दिनांक २४ जून को कोवेंट्री के रिकोह अरिना में बड़ी धूम धाम से मनाया गया । क़रीब २००० योग प्रेमियों ने स्वयं योग गुरु स्वामी रामदेव से योगाभ्यास करने के सही तरीक़े सीखे। कार्यक्रम का शुभारंभ सम्माननीय कोंसल जनरल Dr अमन पुरी, मुख्य अतिथि स्वामी रामदेव एवम् अन्य अतिथियों के द्वारा परंपरागत द्वीप प्रज्ज्वलन के साथ हुआ ।
इसके पश्चात प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी का संदेश दर्शकों के लिए प्रसारित किया गया। श्री मोदी ने योग के गुणों का वर्णन करते हुए बताया कि इसे अन्तर्राष्ट्रीय स्थर पर बढ़ावा देने के लिए संस्थागत प्रकार से प्रशिक्षित योग शिक्षकों की एवें योग पद्धतियों के लिए मानक निर्धारित करने की आवश्यकता है।
कोंसल जेनरल Dr अमन पुरी ने इस बात की ख़ुशी ज़ाहिर की कि इतनी बड़ी संख्या में योग उत्साही कोवेंट्री में इकट्ठा हुए हैं, जो सिटी ओफ कल्चर २०२१ भी घोषित हुआ है । उन्होंने कहा कि सबका यह सपना है कि वर्ष २०२१ में १००००० व्यक्ति इसी शहर में स्वामी रामदेव के साथ योगाभ्यास करें।rnडेविड बर्बिज जो कोवेंट्री सिटी ओफ कल्चर ट्रस्ट के सभापति हैं कहा कि योग दोनों देशों के रिश्तों को बढ़ावा देगा।
अन्य अतिथि बरोनेस्स वर्मा, श्रीमती सुनीता पोद्दार, निखिल नन्दा के द्वारा भी योग की उपयोगिता के बारे में अपने विचार व्यक्त किए।rnस्वामी रामदेव ने उपस्थित योग उत्साहियो को योग का अभ्यास कराया और विभिन्न आसनों कीं सही मुद्रा बतायी । साथ ही प्राणायाम के लाभों से दर्शकों को अवगत कराया।rnस्वामी जीं ने बच्चों के साथ भी योगाभ्यास किया ।rnकोंसल जनरल Dr पुरी ने स्वामी रामदेव का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए उनकी तस्वीर स्मृति चिन्ह स्वरूप भेंट कीं । रागेश्वरी लूम्बा को भी जो सम्पूर्ण कार्यक्रम कीं सूत्रधार थीं Dr पुरी द्वारा स्मृति चिन्ह भेंट किया गया । साथ ही अन्य आयोजकों व संचालकों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कोंसल जनरल ने कहा कि जैसे सभी उपस्थित लोगों ने योग का आनंद लिया, हम यह भी आशा करते हैं कि वह योग को अपनी जीवन शैली का भाग बनाएँगे।